USEFUL BLOGS

lockdown 4.0 : जानिये क्या है खास और क्या होंगे बड़े बदलाव

Lockdown

दोस्तों जैसा की हम सब जानते है की देश में corona virus लगातार अपने पैर पसार रहा है और देशवासियों को इससे खतरा भी बढ़ता जा रहा है | लगातार करीब 3 महीने से भी ज्यादा समय से देश लॉकडाउन(lockdown) में है जिसकी वजह से देश के सभी बाज़ार, फैक्ट्रियां, छोटी-बड़ी कम्पनीयां और सरकारी काम काज पूरी तरह से थप पड़े हुए हैं |

लगातार 3 बार  लॉकडाउन(lockdown) होने की वजह से अब भारत सरकार को देश के अर्थव्यवस्था की चिंता भी सताने लगी है | भारत देश अब कोरोना जैसे संकट के साथ गरीबी और भुकमरी के संकट से भी जूझने लगा है |

देश की स्थिति कुछ इस तरह की है जैसे मानो आगे कुआ और पीछे खाई | अभी न तो भारत पूरी तरह से लॉकडाउन(lockdown) हटा सकता है और न ही गरीबी और भुकमरी से बचने का कोई रास्ता दिखाई दे रहा है |

ऐसे में हर भारतीय के मन में एक ही सवाल उठ रहा है की आगे अब क्या होगा ? दोस्तों देश में लॉकडाउन(lockdown) का तीसरा चरण ख़तम भी नहीं हुआ है और कोरोना का बढ़ता संकट देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(pm modi) ने रात 8 बजे देश के सामने आकर video conference के जरिये लॉकडाउन 4 (lockdown 4) की घोषणा कर दी है | लेकिन ये लॉकडाउन(lockdown) पिछले सभी लॉकडाउन(lockdown) से थोडा अलग होगा |

इस लेख की मदद से हम जानेगे की लॉकडाउन 4 में क्या बदलाव किये जायेंगे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने भाषण में लॉकडाउन 4 (lockdown 4) में गरीबों और कोरोना पीड़ितों के लिए क्या बड़े ऐलान किये हैं |

लॉकडाउन 4 में क्या होंगे बदलाव (lockdown 4 me kya honge badlaaw)

दोस्तों लगातार 3 लॉकडाउन(lockdown) के बाद ये भी एक बड़ा सवाल है की क्या लॉकडाउन 4 (lockdown 4) भी पिछले लॉकडाउन(lockdown) की तरह होगा ?

दोस्तों प्रधानमंत्री ने इस बार के लॉकडाउन(lockdown) के निर्णय को देश की उन सभी समस्याओं को कुछ हद तक नजर में रखते हुए लिया है जिनकी बात हम ऊपर कर चुके है जैसे की गरीबी, भुकमरी आदि | इस बार के लॉकडाउन(lockdown) में देश में काफी चीज़ों पर छूट दी जा सकती है |

वैसे तो देश में लॉकडाउन(lockdown) आगे भी जारी रहेगा लेकिन ग्रीन जोन (green zone) और औरेंज जोन (orange zone) में आने वाली जगहों पर फक्ट्रियों और बड़ी कम्पनियों को खोला जा सकता है |

मजदूरों और रोज कमाकर खाने वाले लोगो के लिए भी ये लॉकडाउन(lockdown) काफी राहत भरा होगा | इन लोगों को सरकार की तरफ से काफी मदद दी जाएगी जिसकी बात भी हम आगे करेंगे |

रेड जोन (red zone) में जो इलाके है वहा पर अभी भी पूरी तरह से सख्ती बरती जायेगी और उन जगहों पर किसी प्रकार की कोई छूट भी नहीं दी जायेगी | दोस्तों ये भी हो सकता है की public transportation आगे भी इसी तरह बंद रहे |

गरीबों के लिए राहत की बात ( gareebo ke liye rahat ki baat)

दोस्तों देश के लगातार लॉकडाउन(lockdown) में होने के कारण कई गरीब और माध्यम वर्गीय परिवार एक बड़ी मुसीबत का सामना कर रहे है | उनके पास ना तो इतना जमा किया हुआ पैसा ही की वो घर पर बैठे-बैठे खा सके और ना ही कमाने के लिए इस वक़्त कोई रोजगार है |

ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण के दौरान गरीबों और माध्यम वर्गीय परिवारों के लिए भी एक बड़ी रहत की बात कही है | मोदी ने ये ऐलान किया है की इतनी बड़ी समस्या से जूझ रहे परिवारों को 20 लाख करोंड़ रूपए की आर्थिक मदद दी जायेगी | आपकी जानकारी के लिए बता दूं इतना पैसा भारत की GDP के 10 प्रतिशत हिस्से के बराबर है |

दोस्तों ये कहावत तो हम सबने सुनी होगी की “डूबते को तिनके का सहारा” | हो सकता है की ये पैसा उन गरीब और असहाय लोगो को वापस से पहले जैसी जिंदगी ना दे सके लेकिन उनके लिए एक राहत की सांस और उम्मीद की किरण जरूर बन सकता है |

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में खास बात यह भी कही है की इस आर्थिक पैकेज के बारे में पूरी सूचना और सभी जानकारी देश के वित् मंत्री के द्वारा दी जायेगी |

क्या लॉकडाउन 4 बन सकता है देश के लिए बड़ा खतरा (kya lockdown 4 ban sakta hai desh ke liye bada khatra)

दोस्तों भारत में लॉकडाउन(lockdown) की घोषणा तब कर दी गयी थी जब देश में कोरोना मरीजों की संख्या 500(active cases) से भी कम थी और गौर करने वाली बात यह है की लगातार देश के लॉकडाउन(loockdown) में रहने के बावजूद भी ये संख्या आज 50,000 के भी पार जा चुकी है |

लेकिन अब देश में corona virus का भी खतरा है, अर्थव्यस्था भी डगमगा रही है  और लॉकडाउन 4 (lockdown 4) में फैक्ट्रियों और बड़ी कम्पनीयों के खोले जाने की भी बात की जा रही है |

ऐसे में लाजमी है की हर किसी को ये चिंता सता रही है की कहीं लॉकडाउन 4 (lockdown 4) देश के लिए बड़ा खतरा साबित न हो जाए | दोस्तों ये बात तो अपनी जगह सही है की कोरोना जैसे खतरे में लॉकडाउन(lockdown) का लगातार जारी रखना बहुत ज्यादा जरूरी है लेकिन इतने बड़े देश को हम इसी तरह बंद भी नहीं रख सकते | सरकार को देश की अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए भी बड़े फैसले लेना होगा वरना हो सकता है की कोरोना से भी बड़ा संकट देश के ऊपर आ जाये |

दोस्तों ये तो आने वाले समय में ही पता चलेगा की लॉकडाउन 4 (lockdoown 4) का देश पर क्या असर होगा लेकिन हमारा मानना है कि यह सब हम पर ही निर्भर करता है की यह लॉकडाउन देश के लिए खतरा बनेगा या सफल साबित होगा |

क्या हो सकती है आगे की रणनीति (kya ho sakti hai aage ki ran-neeti)

दोस्तों कोरोना वायरस और डगमगाती अर्थव्यस्था, दोनों को देखते हुए भारत सरकार और सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों (chief ministers) की रणनीति पहले से कुछ अलग भी हो सकती है जैसे :-

  1. गरीबों और असहाय लोगो की मदद के लिए सरकार की तरफ से और भी कुछ उपाय किये जा सकते है |
  2. ग्रीन जोन (green zones) और औरेंज जोन (orange zones) में आने वाले इलाकों में कुछ चीजों पर छूट दी जा सकती है |
  3. कुछ बड़े निर्णय भी लिए जा सकते हैं |
  4. राशन-पानी की होम डिलेविरी(home delivery) पर भी और ज्यादा जोर दिया जा सकता है |
  5. पुलिस और प्रशासन की तरफ से सख्ती भी बढ़ाई जा सकती है |
  6. लॉकडाउन 5 (lockdown 5) को कुछ नए नियमों के साथ लाया जा सकता है |
  7. बाहर फसे लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए और भी special trains चलाई जा सकती है |

कब तक रहेगा आखिर लॉकडाउन में देश (kab tak rahega aakhir lockddown me desh)

देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में ज्यादातर लोगों ने लॉकडाउन (lockdown) में रहना सीख लिया है और corona virus के खतरे से बचने के लिए ना तो अभी तक दुनिया में कोई प्रमाणित दवा बनी है और ना ही कोई इलाज आया है | ऐसे में लॉकडाउन(lockdown) ही इस खतरनाक बीमारी से बचने का एक मात्र उपाय है |

आज पूरी दुनिया के ज्यादातर देश लॉकडाउन(lockdown) में है और अमेरिका जैसे देश भी इस बीमारी के सामने अपने घुटने टेक चुके हैं | लेकिन कब तक रहेगा आखिर लॉकडाउन(lockdown) में भारत ?

दोस्तों अभी तो इस बात का जवाब दे पाना किसी के लिए भी बहुत मुश्किल है और ऐसा ख़तरा अभी से पहले ना तो किसी ने देखा है और ना ही सुना है | दुनिया के बड़े-बड़े डॉक्टर और साइंटिस्ट भी इस बीमारी को लेकर अलग-अलग दावे कर रहे हैं |

ऐसे में ये भी कह पाना मुश्किल है की ये बीमारी आगे क्या मोड़ ले सकती है | लेकिन जब तक इस बीमारी का कोई प्रमाणित इलाज नहीं मिल जाता तब तक देश को लॉकडाउन(lockdown) में ही रहना पडेगा और भारत एवं हर भारतीय के लिए यह सही भी है |

लॉकडाउन काफी लम्बे समय (long time) तक हमारे जीवन का हिस्सा रह सकता है | (modi announced that lockdown will be part of our lives till long time.)

निष्कर्ष (conclusion)

दोस्तों लॉकडाउन 3(lockdown 3) अभी ख़तम भी नहीं हुआ है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (prime minister narendra modi) के द्वारा देश को संबोधित करते हुए(addressed the nation) लॉकडाउन 4.0 (lockdown 4.0) की कुछ नए नियमों के साथ(form with new rules) घोषणा कर दी गयी है |

इस राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन (nationwide lockdown) में गरीबों और माध्यम वर्गीय परिवारों के लिए मोदी ने 20 लाख करोंड़ रूपए के आर्थिक पैकेज का भी ऐलान किया है |

सुरक्षित क्षेत्रों में फैक्ट्रियों और बड़ी कम्पनीयों को भी खोला जा सकता है ताकि अर्थव्यस्था को भी कुछ हद तक बचाया जा सके |

लॉकडाउन(lockdown) में पूरे देश को कई बड़ी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है और अगर हम सब सचेत होकर ना चले तो यह लॉकडाउन(lockdown) देश के लिए बड़ा खतरा भी बन सकता है | अभी तक इस बीमारी का कोई इलाज ना आने के कारण देश में कोरोना वायरस लॉकडाउन(coronavirus lockdown) आगे भी जारी रहेगा |

दोस्तों हम पर ही निर्भर करता है की हम लॉकडाउन(lockdown) जैसे फैसले को सफल बनाते है या नहीं |

इस बीमारी से कोई अकेले तो नहीं लड़ सकता, हम सब को एक जुट होकर ही लड़ना होगा |

अपने देश के प्रधानमंत्री pm narendra modi का साथ देना होगा | आप को ही अपने परिवार को सुरक्षित रखना होगा और कोरोना वायरस के प्रकोप(coronavirus outbreak) को रोकना होगा | यह समय टूटने का नहीं बल्कि होश से काम करने का है |

अपना और अपने परिवार का मनोवल ना टूटने दें | मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें

(wear masks and maintain social distancing) |

दोस्तों gurujiathome.com की मदद से coronavirus india से जुड़े live updates को देने की पूरी कोशिश करते रहेंगे |

घर पर रहें, सुरक्षित रहें

जय हिन्द

2 Comments

Leave a Response